मुख्य-पृष्ट
वैवाहिक कार्यक्रम
वैवाहिक योजना
वैवाहिक आवश्यकता
वैवाहिक गीत
वैवाहिक स्रोत
वैवाहिक उपयोगी बातें
वैवाहिक हंसिकाएं
वैवाहिक डाऊनलोड
वैवाहिक समाचार
वैवाहिक रोचक रीति-रिवाज
वैवाहिक शब्दकोश
अन्य उपयोगी बातें
हमारी सेवाऐं
हमारे बारें में

थापा रश्म / रात्रि-जागरण / मेहन्दी

थापा की रश्म में थापा की पूजा की जाती है. थापा के आगे दीपक जलाया जाता है. रात में रात्रि-जागरण भी किया जाता है. रात्रि-जागरण में औरतें देवी-देवता के गीत आदि गाती हैं. इस अवसर के साथ आप मेहन्दी की रश्म भी कर सकतें हैं. मेहन्दी में सभी औरतें मेहन्दी मण्डवाती हैं.

व्यवस्था :

पूजा की थाली
पान, सुपारी, रोली, मोली, चावल, फल, दुर्व्वा
घण्टी, रुपया, पैसा आदि
ऊखल-मुसल (काठका)-2
लौहे की कुडछी-2
छाजला-2
हल्दी की गांठ
साबुत नमक
जौ
हंसली-मुंधडी़ चान्दी की
पीढा़
मूंग दाल पीसी हुई (मंगोडी़ का के लिए)
ताला-चाबी सहित
पिरोत- एक छन्नी में मूंग- चावल-पैसा
धी-पाना (धी-बताशा)

Find US on

This Website is Developed by Saajan Verma "Sanjay"
© 2013-2014 www.SagaaiSeVidaaiTak.in. All Right Reserved.
Powered By :